English कैसे सीखें? इंग्लिश लिखना-बोलना सीखने के 10 तरीके

English कैसे सीखें: आज के इस दौर में हर एक व्यक्ति यही चाहता है कि उसको अच्छी इंग्लिश आए और वह किसी के भी सामने बेझिझक होकर इंग्लिश बोल सके, पर उसको समस्या यही रहती है कि आखिर वो इंग्लिश सीखे तो सीखे कैसे.

तो अगर आप भी अपनी कमजोर इंग्लिश को लेकर चिंतित हैं तो अब आपको चिंता करने की कोई जरूरत नही है क्यूँकि आज हम आपको बताने वाले हैं कि “इंग्लिश कैसे सीखें”. आज मैं आपको कुछ ऐसे आसान तरीके बताने वाला हूँ कि अगर आप उनको सही तरीके से फॉलो करेंगे तो आप भी आसनी से English सीख सकते हैं.

English कैसे सीखें

आज के समय में इंग्लिश का ज्ञान होना बहुत जरूरी हो गया है, अब आप जहाँ भी देखेंगे ज्यादातर इंग्लिश भाषा का ही उपयोग किया जाने लगा है फिर चाहे आप किसी ऑफिस में काम कर रहे हों, कॉलेज में पढ़ाई कर रहे हों या फिर किसी से बातचीत करते वक़्त और अन्य सभी जगहों पर इंग्लिश अब मुख्य भाषा के रूप में उभर कर आ रहा है.

ऐसे में यह बहुत ही ज्यादा जरूरी बन जाता है कि आपको भी अच्छी इंग्लिश आनी चाहिए जिससे आप भी कहीं भी किसी से इंग्लिश में बोल सकें, आज मैं आपको इंग्लिश सीखना और बोलना दोनों के बारे में बताने वाला हूँ तो चलिए जानते हैं कि- English बोलना कैसे सीखें? और इंग्लिश सीखने का तरीका

English Kaise Sikhe Aur Bole

ये भी जानें:

फेसबुक पर लाइक कैसे बढ़ायें Facebook पर Like बढ़ाने के 7 तरीके

इंटरनेट के फायदे और नुकसान (Internet Advantages and Disadvantages in Hindi)

English कैसे सीखें? (How to Learn English in Hindi)

अगर इंग्लिश नही जानते हैं तो जरूर ही आपको यही लगता होगा कि इंग्लिश सीखना बहुत मुश्किल काम है और आप नही सिख सकते है न? क्या आप भी ऐसा ही सोचते हैं? अगर आपका जवाब हाँ है तो फिर आप गलत सोचते हैं, क्यूँकि दुनिया में ऐसा कोई काम नही जो न किया जा सके.

अगर आपके अंदर किसी काम को करने की इच्छा और जुनून है तो बेशक आप किसी भी काम में जरूर से सफल हो जाएंगे, बस बात वही आ जाती है कि कम से कम आपके अंदर वो जुनून होना चाहिए, और अगर आप इंग्लिश सीखना चाहते हैं तो आपको खुद पर यकीन रखना होगा और खुद को यकीन दिलाना होगा कि हाँ आप यह कर सकते हैं.

और एक बार जब आपने अपने आप को अगर इस बात का यकीन दिला लिया तो शत प्रतिशत आप अपने काम में सफल जरूर होंगे.

अब मैं आपको “English सीखने के तरीके” के बारे में नीचे बताने जा रहा हूँ, और मैं जो भी बताने वाला हूँ आप उसको ध्यान से पढ़िए, समझिए और फिर उस पर अमल कीजिए, तो चलिए अब एक एक करके सभी तरीकों के बारे में जान लेते हैं…

1. व्याकरण (Grammar) पढ़ें

अगर आप इंग्लिश सीखना चाहते हो तो सबसे पहला काम आपको यही करना है कि आपको इंग्लिश व्याकरण सीखना है, क्यूँकि जब आप व्याकरण सीखोगे तभी आपको उसके नियम पता चल पाएगा कि कहाँ पर क्या और कैसे करना है.

वरना आप ही सोचो अगर आप चाहते हैं कि आपका एक परिवार हो और आपको सुकून की नींद मिले तो उसके लिए एक घर होना भी तो जरूरी है तभी तो आप उसमें रह पायँगे न, इसी तरह से इंग्लिश में ग्रामर को आप एक घर समझ सकते हैं क्यूँकि आप बाकी जितनी भी चीजों को अप्लाई करेंगे उसका मुख्य स्रोत ग्रामर ही होगा.

एक जरूरी बात और जो आपको ध्यान में रखना है, वो यह है कि इंग्लिश सीखने और बोलने के लिए आपको ग्रामर में बिल्कुल पंडित बनने की भी जरूरत नही है, बस आपको ग्रामर का Basic ज्ञान होना चाहिए और उतना ही आपके लिए काफी होगा, जैसे कि इंग्लिश के नियम इत्यादि…

और इंग्लिश ग्रामर सीखने के लिए आप मार्केट से कोई भी ग्रामर की किताब खरीद सकते हैं और उसी की मदद से आपको ग्रामर सीखना है या आप चाहें तो ऑनलाइन भी ग्रामर सिख सकते हैं जो भी आपको अच्छा लगे आप वो तरीका अपना लीजिए.

शब्दकोश (Vocabulary) सीखें

अब जब आपको ग्रामर का थोड़ा बहुत ज्ञान हो जाए उसके बाद आपको Vocabulary यानी शब्दकोश को पढ़ना और उन्हें याद रखना है.

अगर आपको इसके बारे में नही पता तो आपको बता दूँ कि Vocabulary शब्दों का समूह होता है जिसमें अंग्रेजी के सभी शब्दों का हिंदी में अर्थ या फिर हिंदी के शब्दों का अंग्रेजी अर्थ बताया हुआ होता है, जिसको याद करके आप उनका उपयोग इंग्लिश लिखने या फिर बोलने में कर सकते हैं.

अब आप सोचोगे को इंग्लिश में करोड़ों-अरबों शब्द होते हैं आप उनको याद कैसे रखेंगे? परेशान हो गए न आप? नही आपको इसमें ज्यादा परेशान होने की जरूरत नही है क्यूँकि यह बहुत आसान काम है, आपको सिर्फ उन्हीं शब्दों को याद रखना है जिनका उपयोग आप करने वाले हैं मतलब जो जो जरूरी शब्द हैं आप सिर्फ उन्हीं को याद कीजिये और बाकी को छोड़ दीजिए.

अब जैसे जिसे आपको शब्द याद होते हैं वैसे वैसे आप नए नए शब्द सीखते जाइये, अगर आप सोचोगे कि एक ही दिन में सारे के सारे याद हो जाएं तो ऐसा तो सम्भव नही है न, इसीलिए आप इसको निश्चित कर लें, आप एक टारगेट बना के चलें कि हर रोज आपको कितने शब्दों को याद करना है.

जैसे आप एक टारगेट बना सकते हैं कि आपको रोज 20 शब्द याद करने हैं और इसी तरह से हर रोज अगर आप 20 शब्द भी याद करेंगे तो 1 महीने में 600 शब्द हो जाएंगे जो बहुत हैं, और जब यह करना आसान लगने लगे फिर आप शब्दों की संख्या को बढ़ाइए, जैसे कि आप पहले दिन के 20 शब्द याद करते थे तो फिर उसको 25 कीजिए ऐसे ही आप सीखते जाइये.

3. किताबें पढ़िए

जब ग्रामर का थोड़ा बहुत ज्ञान हो जाये और शब्दकोश भी याद हो जाएं तो अगला काम आपको यही करना है कि आप इंग्लिश में किताबों को पढ़ना शुरू कीजिए, आपके पास कोई न कोई इंग्लिश की किताब तो जरूर होगी और अगर नही है तो एक खरीद लीजिए और उसको पढ़ने की कोशिश कीजिये.

अब यह बात तो पक्की है कि शुरू शुरू में आपको सब कुछ ठीक से समझ नही आएगा आपको बहुत ज्यादा मुश्किल लगेगा, लेकिन फिर भी आप बिलकुल भी घबराएँ नहीं, क्यूँकि सब 1 दिन में तो आप नही सिख पाएंगें, इसमें कुछ वक्त तो लगेगा ही इसीलिए आपको धैर्य रखना है और थोड़ा थोड़ा करके रोजाना सीखते जाना है.

और हाँ शुरुआत में आप हमेशा कोई ऐसी ही किताब पढ़ें जो आसान हो, इसके लिए आप ऐसा भी कर सकते हैं कि आप छोटे बच्चों की इंग्लिश की किताबों को पढ़िए क्यूँकि उसमें सामान्य अंग्रेजी का प्रयोग किया होता है और आपको समझने में भी आसानी होगी, और अगर आपके पास ऐसी कोई किताब नही भी है तो आप मार्केट से खरीद सकते हैं.

4. मन में अभ्यास करें

इंग्लिश सीखने के मामले ये वाला तरीका आपको सबसे ज्यादा मदद करेगा, अगर आप इच्छा रखते हैं कि आप जल्दी से जल्दी इंग्लिश सिख जाएँ तो आप हमेशा अपने मन में ही इंग्लिश का अभ्यास करना शुरू कर दीजिए.

अब आप सोचोगे कि मन में भला कोई कैसे अभ्यास कर सकता है तो मैं आपको बताता हूँ, जैसे कि मान लीजिए आज आपने शब्दकोश में से कुछ शब्द याद किये हैं तो अब जब भी आपको खाली समय मिले तो उस समय आप अपने मन में उन शब्दों का विचार कीजिये और उन्हें याद कीजिये.

ठीक इसी तरह आप जो कुछ भी सिख रहें हैं उन सभी को आप अपने मन में ही अभ्यास करें, आप यकीन कीजिए जितना आप पूरा दिन किताबें पढ़कर नही सिख पाएंगे उससे भी कहीं ज्यादा आप अपने मन में अभ्यास कर करके सिर्फ कुछ ही समय में सिख जाएंगे और इससे आपको वह बातें भी ज्यादा समय तक याद रहेंगे.

5.  इंटरनेट की मदद लें

इंग्लिश सीखने में “इंटरनेट” भी आपके लिए बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है, आप अंदाजा भी नही लगा सकते कि इंटरनेट पर आपको क्या क्या सीखने को मिल सकता है, आप इंटरनेट की मदद से भी सब कुछ सिख सकते हैं.

और यही इंटरनेट इंग्लिश सीखने में भी आपकी मदद करेगा, इंटरनेट पर पर आपको ऐसे बहुत सारे Apps मिल जाएंगे जिसकी मदद से आप इंग्लिश सिख सकते हैं, ये सारे एप्प्स Play Store में उपलब्ध है आप अपनी जरूरत के हिसाब से प्लेस्टोर से एप्प इनस्टॉल कर सकते हैं और फिर उसकी मदद से इंग्लिश सिखने में मदद से सकते हैं.

इसके अलावा आपको YouTube पर भी बहुत सारे Videos मिल जाएंगे जिसकी सहायता से भी आप इंग्लिश सिख सकते हैं, YouTube पर ऐसे हजारों वीडियो मौजूद हैं जिसमें इंग्लिश सीखने के बारे में बताया गया है, उदाहरण के तौर पर मैं निचे एक वीडियो दे रहा हूँ आप उसको भी देख सकते हैं.

English बोलना कैसे सीखें?

अब तक आपने जाना कि- इंग्लिश कैसे सीखें, लेकिन एक बार जब आप थोड़ी बहुत English सिख जाएँ तो फिर आपको इंग्लिश बोलना भी जरूरी है, क्यूँकि सीखना और उसको बोलकर किसी के सामने प्रस्तुत करना इन दोनों में बहुत फर्क होता है.

जब आप इंग्लिश सिख जायेंगे तो शायद आपको ऐसा लगे कि आप बड़ी आसानी से उसको बोल भी लेंगे, लेकिन सच तो ये है कि यह इतना आसान भी नही होता, इंग्लिश सीखना अलग बात है और बोलना अलग, English बोलने की भी एक कला होती है जिसके बारे में आपको जरूर जानना चाहिए.

अब मैं आपको इंग्लिश बोलने के तरीके के बारे में बताने वाला हूँ जिसको फॉलो करके आप इंग्लिश बोलना सिख सकते हैं, तो चलिए अब मैं आपको बताता हूँ कि इंग्लिश बोलना कैसे सीखें…

1. Movies और Videos देखें

अगर हम इंग्लिश बोलने की बात करें तो इसमें सबसे पहला तरीका ये है कि आप जो मूवीज या वीडियो को हिंदी में देखते हैं उसी को इंग्लिश में देखा करें यह भी आपको इंग्लिश बोलने में मदद कर सकता है.

मुझे पता है कि अभी आप सोचेंगे कि वीडियो देखकर तो इंग्लिश सीखा है सकता है लेकिन उससे भला बोलना कैसे सीखा जा सकता? क्या आप भी यही सोच रहे हैं? कोई बात नही चलिये अब मैं इस बात को थोड़ा विस्तार से आपको समझाता हूँ…

सबसे पहला काम तो आप ये कीजिए कि जिस भी विषय पर आपको अच्छा लगे आप उस विषग पर एक वीडियो देखें और क्यूँकि अब आपने थोड़ी इंग्लिश सिख ली है इसीलिए आपको वो इंग्लिश वाला वीडियो समझ आने लगेगा, अब वीडियो में जो भी चल रहा है उसमें लोग जो भी बोल रहे हैं उसको ध्यान से सुनिए और देखिये कि आखिर वो एक दूसरे से कैसे बात कर रहे हैं.

यकीनन आपको उससे कुछ न कुछ सीखने को मिलेगा, आप एक तरह से उनकी नकल करने की भी कोशिश करें और वो लोग जो बोल रहे हैं उसको आप अपने मन में ही सोचें और समझें और उसपर अमल करें और अगली बार आप खुद उनकी तरह बात करने की कोशिश करें.

2. बोलने का अभ्यास करें

अगर आप ये चाहते हैं कि आप जल्द से जल्द इंग्लिश बोलने में माहिर ही जाएँ तो आपको ये तारिका भी अपनाना बहुत जरूरी है, आपको हमेशा बोलने का अभ्यास करते रहना है जिससे आपका बोलने का अनुभव और भी बेहतर होगा.

अब आपके साथ ऐसा जरूर होगा कि जब आपको अच्छे से इंग्लिश बोलना नही आता तो आप किसी के सामने तो बोलने में हिचकिचाएंगे, तो इसका उपाय ये है कि आप हमेशा अकेले में अभ्यास करें, जब आप अकेले में बोलने का अभ्यास करेंगे तो आपको कोई परेशानी नही आनी चहिये और आप बेझिझक इसका प्रयास कर पाएंगे.

और दूसरी बात आप आईने के सामने भी बोलने का अभ्यास करें इनसे आपको और अच्छे से पता चल जाएगा कि आप बोल पा रहे हैं या नही और अभी आपको क्या सुधार करना है, इसीलिए आईने के सामने अभ्यास जरूर करें.

3. बोलते वक़्त हिचकिचाएं नही

अक्सर यही होता है कि जब आप ठीक से बोल नही पाते तो आप हिचकिचा के बोलते हैं और डर डर के बोलते हैं जो बिल्कुल भी सही बात नही है, आपको खुद पर यकीन रखना होगा कि आप बोल सकते हैं और तभी आप ठीक से बोल पाएंगे.

अब मान लीजिए कि बोलते वक़्त आपसे कोई ग्रामर की गलती हो गई या फिर किसी भी प्रकार की कोई और गलती हो गई तो ऐसे में आप बिलकुल भी हिचकिचाएं नही, जो गलती हो गई सो हो गई उसपर आप ध्यान न दें और लगातर बातचीत जारी रखें और बिना किसी हिचकिचाहट के सामने वाले से बात करें.

और अगर फिर भी आपको किसी के सामने बोलने में दिक्कत होती है तो ऐसे किसी व्यक्ति के सामने अभ्यास करें जिसके सामने आपको कोई परेशानी न आये, जैसे कि आप अपने किसी दोस्त का सहारा ले सकते हैं और उसके सामने बोलने का प्रयास करें.

4. थोड़ा थोड़ा करके सीखें

अक्सर यही होता है कि लोग जल्दबाजी में आ जाते हैं और सोचते हैं कि सब कुछ 1-2 दिन में ही सिख जाएंगे, लेकिन ऐसा होना इतना आसान थोड़े ही है, इसीलिए आप कभी भी जल्दबाजी के चक्कर में न पड़ें और रोज थोड़ा थोड़ा करके सीखें और बोलें.

और अगर आप एक दिन में बहुत कुछ सीखने के चक्कर में पड़ेंगे तो वो ज्ञान ज्यादा वक्त तक नही टिकेगा, आप खुद ही सोचो जब घर में खाना पकाया जाता है तो धीरे धीरे पकाया जाता है या एक साथ ढेर सारी आँच में? अगर अधिक आँच में पकाओगे फिर तो खाना पकने के बजाय उल्टा जल ही जायेगा.

ठीक इसी तरह से स्कूल में भी हमें एक भी विषय पूरे साल भर पढ़ाया जाता है थोड़ा थोड़ा करके, जल्दबाजी में किया गया काम जल्दी ही मिट सकता है, इसीलिए आप भी इस बात को समझिए और हर दिन थोड़ा थोड़ा करके सीखिये इससे आपको वो चीजें अच्छे से और हमेशा के लिए याद रहेंगी.

निष्कर्ष:

आज मैंने आपको जानकारी दी कि, English कैसे सीखें? (How to Learn English in Hindi) जिसमें मैंने आपको इंग्लिश सीखने के 10 तरीकें बताये हैं, और साथ साथ मैंने ये भी बताया कि, English कैसे बोलें? और उसके लिए भी मैंने आपको कुछ जरूरी तरीके बताए हैं.

अब आगे काम आपको करना है मैंने तो आपको बताया दिया कि कैसे और क्या करना है लेकिन इसपर आपको अमल करना होगा तभी आप इंग्लिश सिख पाएंगे, यह केवल एक दिन में नही होगा इसीलिए आपको धैर्य भी रखना होगा और धीरे धोरे सीखते रहिए.

मैं आशा करता हूँ कि आपको हमारी ये जानकरी पसन्द आयी होंगी, इस पोस्ट को अपने सभी दोस्तों के साथ भी शेयर जरूर करें जिससे कि उनको भी English सीखने में मदद मिले.

और अगर “English कैसे सीखें इंग्लिश लिखना-बोलना सीखने के 10 तरीके” के इस जानकारी से जुड़े आपके कोई सवाल हों तो आप कमेंट में पूछ सकते हैं.

ये भी जानें:

Android Root क्या है? मोबाइल Root करने के फायदे और नुकसान

Facebook Account Delete Kaise Kare? Step by Step Jankari

Leave a Comment