स देश में होगा एशिया कप टी-20,सौरव गांगुली ने दी जानकारी

एशिया कप टी-20 टूर्नामेंट की मेजबानी इस साल यूएई करेगा। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के अध्यक्ष सौरव गांगुली ने गुरुवार को अपेक्स काउंसिल की मीटिंग के बाद इसकी जानकारी दी। उन्होंने कहा कि एशिया कप को श्रीलंका से यूएई में शिफ्ट कर दिया गया है। गांगुली ने कहा कि यूएई ही एकमात्र ऐसा देश हैं जहां इस समय बारिश नहीं हो रही है।
इससे पहले बुधवार को श्रीलंका क्रिकेट (एसएलसी) ने एशिया कप 2022 टी20 क्रिकेट की मेजबानी से इनकार कर दिया था। श्रीलंका क्रिकेट ने बुधवार को एशिया क्रिकेट परिषद (एसीसी) को इसकी जानकारी दे दी। उन्होंने बताया कि आर्थिक और राजनीतिक कारणों से वह टी20 एशिया कप की मेजबानी करने की स्थिति में नहीं हैं।

आर्थिक संकट की वजह से ही लंका प्रीमियर लीग (एलपीएल) के तीसरे संस्करण को भी स्थगित कर दिया गया था। एसीसी के सूत्रों के अनुसार श्रीलंका ने कहा है कि उसके यहां के हालात बहुत खराब हैं। वह छह टीमों के इतने बड़े टूर्नामेंट की मेजबानी करने की स्थिति में नहीं है।
एशिया कप 27 अगस्त से 11 सितंबर के बीच खेला जाना है और यह टी-20 प्रारूप में खेला जाएगा। 1984 में शुरू हुआ यह टूर्नामेंट 2014 तक 50 ओवर के फॉर्मेट में खेला गया। फिर 2016 में टी-20 विश्व कप की वजह से इसे टी-20 फॉर्मेट में खेला गया था।

तब महेंद्र सिंह धोनी के नेतृत्व में भारतीय टीम ही चैंपियन बनी थी। 2018 में एक बार फिर इस टूर्नामेंट को वनडे फॉर्मेट में खेला गया और रोहित शर्मा की कप्तानी में टीम इंडिया ही चैंपियन बनी थी। अब इस साल टी-20 विश्व कप की वजह से एक बार फिर से यह टूर्नामेंट टी-20 फॉर्मेट में खेला जाएगा।

भारतीय टीम अब तक टूर्नामेंट के 13 संस्करणों में हिस्सा ले चुकी है और सबसे ज्यादा सात बार चैंपियन बनी है। इसके अलावा टीम तीन बार रनर-अप भी रही। दूसरे स्थान पर श्रीलंका है। श्रीलंकाई टीम पांच बार चैंपियन बनी है और छह बार रनर अप रही है। पाकिस्तान की टीम ने दो बार यह खिताब जीता है और दो बार वह रनर अप रही है। अगले साल फिर से यह टूर्नामेंट वनडे फॉर्मेट में लौट आएगा।

Leave a Comment